वासना की नजर… The Best Hindi Poetry

वासना की नजर…. वासना हैं तुम्हारे नजर में तो मैं क्या क्या ढकुं,तु हि बता क्या करूँ कि चैन कि जिन्दगी जी सकूँ,साड़ी पहनती हूँ तो तुझे मेरी कमर दिखती …

Read More

ऐसा वक्त कहाँ से लाऊँ

ऐसा वक्त कहाँ से लाऊँ  – Hindi-Urdu Poetry वेफिकरी की अलसाई सी उजली सुबहें काली रातें हकलाने की तुतलाई सी आधी और अधूरी बातें आंगन में फिर लेट रात को चमकीले …

Read More

खून के निशान- कविता

बड़े मशहूर इस शहर के सुंदर कोने में एक मकान है | मकान की बगल की रेट पर कुछ लहू के निशान है | वो चंद बुँदे खून की जमीन …

Read More

माँ पर कुछ पंक्तियाँ

राहों में कभी अगर मैं गुम हो गया तो हाथ पकड़ कर तुने रास्ता दिखाया रातों में कभी अगर सो न पाया तो लोरी सुना कर तुने मुझको सुलाया दुनिया …

Read More

नई शुरुआत – सुबह की प्रेरणादायक कविता

नई शुरुआत  वो चिड़िया का मीठा गुंजन  सुबह की हवा का स्पंदन बौराए पेड़ो का मस्ती में झुलना  सुर का यु मचलना  मेरे अलसाए मन को छेड़ गया  कुछ कानो …

Read More

पेड़ का साथ- हिंदी कविता

जीवन का अन्त होगा जब, छोटी बड़ी श्रंखलाएँ टूटेगीं सब, न कोई नाता न रिश्ता, कलम कागज भी साथ नही जाएँगे जब, तब साथ जाएगा वह, जिसने देखे कई पतझड़ …

Read More

जीवन का संबंध – हिंदी कविता

जीवन का संबंध जन्म से मृत्यु तक का सफर जीवन ही है जीवन में सबसे बड़ा मित्र आत्मविश्वास ही है जीवन का सबसे बड़ा शस्त्र समाधान ही है जीवन का …

Read More

एक पल भी जिन्दगी का व्यर्थ क्यों जाये? हिंदी कविता

एक पल भी जिन्दगी का व्यर्थ क्यों जाये? सुन सको तो फिर सुनो संवेदना मेरी , कब तक तजोगे राह तुम अन्याय की ? आदमी हो ,आदमी का अर्थ तो …

Read More

पढ़िए साड़ी की दास्तान – साड़ी पर कविता

 साड़ी की दास्तान – साड़ी पर कविता क्या बताऊं मैं, बहुत अच्छा लगता है जब एक साधारण कपड़े से सज धजकर बाहर निकलती हूं साड़ी बनकर।  कई जगह में बिकने …

Read More

ढूँढ रही मैं बावरी – हिंदी कविता

ढ़ूँढ रही मैं बावरी, अपने हिस्से का, स्वर्णिम आकाश, टिम-टिम करते तारे, हाय! सुख-दुख के, बन गए पर्याय , तम घनेरा ऐसे , छाय जैसे चन्द्र में ग्रहण लग जाए, …

Read More