Category: hindi kavita

हिंदी उर्दू ग़ज़ल – Best Romantic Ghazal in Hindi by Salil Saroj

जिनको जीना है,वो उनकी आँखों से जाम पिया करें और इसी तरह अपने जीने का सामान किया करें खुदा किसी के मकाँ का शौकीन तो नहीं रहा तो दिल में ही कभी आरती तो कभी…

हिंदी उर्दू ग़ज़ल – Best Romantic Ghazal in Hindi by Salil Saroj

हिंदी उर्दू ग़ज़ल – Best Romantic Ghazal in Hindi by Salil Saroj

जिनको जीना है,वो उनकी आँखों से जाम पिया करें और इसी तरह अपने जीने का सामान किया करें खुदा किसी के मकाँ का शौकीन तो नहीं रहा तो दिल में ही कभी आरती तो कभी…

कड़ी निंदा- Hindi Kavita By Ankush Tiwari

कड़ी निंदा:- चलो भाई मिल-जुल कर कड़ी निंदा करते है, कुछ करना हमारे बस की नहीं तो आओ यूं ही ढोंगी बन चिंता करते है, त्राहि त्राहि मची है देश में, राक्षस घूम रहा है…

कड़ी निंदा- Hindi Kavita By Ankush Tiwari

कड़ी निंदा:- चलो भाई मिल-जुल कर कड़ी निंदा करते है, कुछ करना हमारे बस की नहीं तो आओ यूं ही ढोंगी बन चिंता करते है, त्राहि त्राहि मची है देश में, राक्षस घूम रहा है…

खून के निशान- कविता

बड़े मशहूर इस शहर के सुंदर कोने में एक मकान है | मकान की बगल की रेट पर कुछ लहू के निशान है | वो चंद बुँदे खून की जमीन में समाना चाहती है पर…

खून के निशान- कविता

बड़े मशहूर इस शहर के सुंदर कोने में एक मकान है | मकान की बगल की रेट पर कुछ लहू के निशान है | वो चंद बुँदे खून की जमीन में समाना चाहती है पर…

उम्मीदों की कोंपल (कविता)

उम्मीदों की कोंपल मन की पीड़ा , क्यों थाम लेती है अश्को को दामन अंखियो से लगती है झड़ी जैसे सावन की | रिश्तो की बगिया में आ गया मौसम क्यों पतझड़ का , रूठे…

उम्मीदों की कोंपल (कविता)

उम्मीदों की कोंपल मन की पीड़ा , क्यों थाम लेती है अश्को को दामन अंखियो से लगती है झड़ी जैसे सावन की | रिश्तो की बगिया में आ गया मौसम क्यों पतझड़ का , रूठे…

एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती हैं।- दिल छू लेने वाली कविता

एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती है, तो मानो अंधेरा छट जाता हैं। सारा संसार रोशनमय हो जाता हैं। एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती है, तो राहगीरों को राह दिखाती हैं। भूलें-बिसरें को राह…

एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती हैं।- दिल छू लेने वाली कविता

एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती है, तो मानो अंधेरा छट जाता हैं। सारा संसार रोशनमय हो जाता हैं। एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती है, तो राहगीरों को राह दिखाती हैं। भूलें-बिसरें को राह…