( प्लेटोनिक लव – Platonic Love Story in Hindi )  वय: संधि के उस मोड़ पर खड़ी थी , जब मन का पंछी बाते करता था अपने आप से | संभालना मुश्किल होता नाअपने आप को | तुम कब कैसे बिना आहट
Read More

22 total views, 1 views today

जिनको जीना है,वो उनकी आँखों से जाम पिया करें और इसी तरह अपने जीने का सामान किया करें खुदा किसी के मकाँ का शौकीन तो नहीं रहा तो दिल में ही कभी आरती तो कभी आज़ान किया करें हमेशा दूसरों की नज़र
Read More

17 total views, no views today

मेरे खेत की मुँडेर पर वो उदास शाम आज भी  उसी तरह बेसुध बैठी है जिसकी साँसें सर्दी की लिहाफ लपेटे ऐंठी है मुझे अच्छी तरह याद है वो शाम जब तुम दुल्हन की पूरी पोशाक में कोई परी बनकर आई थी
Read More

25 total views, no views today

पल पल पल जाने किस पल , ख़ुशी हो या फिर ग़म सबी को बीत जाना है वक़्त के साथ, जो भी होना है वही होता है, जो भी सहना है सहना ही है, जो बीतना हो वही बीतेगा, ना क़ुछ है
Read More

21 total views, no views today

घरोंदा   Gharaonda – A Motivational Life Story  बालकनी में खड़ी चाय के प्याले को सिप करते करते जीवन में आये इस अजीब से मोड पर उलझी  सोच रही थी मेरी नजर छत के  बीचो बीच लटके उस बल्ब की ढीली हुई प्लेट
Read More

30 total views, no views today